जीडीपी क्या होती है? | GDP Full Form

हैलो दोस्तों, आपने जीडीपी (GDP) शब्द का नाम तो कहीं न कहीं जरूर सुना होगा। मतलब इस देश की जीडीपी घट रही है या उस देश की जीडीपी बढ रही है। हम अक्सर यह शब्द सुनते रहते हैं। लेकिन आपको असल मे पता है कि जीडीपी क्या होती है? (gdp in hindi) जीडीपी का क्या मतलब होता है? (gdp meaning) तो अंत तक बने रहिये। इस लेख में आप gdp ka full form तथा इंडिया की जीडीपी कितनी है? (gdp of india) और जीडीपी की गणना कैसे करते हैं? (how is gdp calculated in hindi) को सरल और आसान भाषा में जानेंगे।

बता दें कि जीडीपी (GDP) एक संख्या होती है जो लगभग हर देश के लिये एक निश्चित समय के लिए जोड़ी जाती है। जीडीपी किसी भी देश की आर्थिक स्थिति (विकास दर) को बताती है। किसी भी देश की जीडीपी गिरने से सीधे तौर पर उस देश में रोजगार की कमी, उत्पादन में कमी और बढती महगाई से जोड़कर देखा जाता है।

जान लें कि जिस देश की जीडीपी सबसे अधिक होती है। वह देश दुनिया का सबसे अमीर देश होता है। इस आधार पर सयुंक्त राज्य अमेरिका बहुत समय से दुनिया का सबसे अमीर देश बना हुआ है। मतलब जीडीपी के आधार पर ही हम बताते हैं कि किस देश के पास कितना पैसा है?

सयुंक्त राज्य अमेरिका की जीडीपी की बात करें तो IMF के 2020 के आंकणो के अनुसार इसकी कुल जीडीपी 20.81 ट्रिलियन डॉलर है। इसके बाद दूसरे नंबर पर चीन 14.86 ट्रिलियन डॉलर के साथ, तीसरे नंबर पर जापान 4.91 ट्रिलियन डॉलर के साथ और चौथे नंबर पर ज़र्मनी का नाम आता है जिसकी कुल जीडीपी 3.7 ट्रिलियन डॉलर है।

जीडीपी (GDP) क्या होती है? | gdp in hindi

जीडीपी (GDP) का मतलब सकल घरेलू उत्पाद होता है यानिकि किसी देश में निर्धारित समय में वस्तुओं के उत्पादन (सामान) और सेवाओं के कुल मूल्य को जीडीपी कहा जाता है। मतलब जीडीपी देश में हुए कुल उत्पादन का योग (Total) होता है। जीडीपी के द्वारा ही पता चलता है कि किस देश के पास कितना पैसा है और वह किस रफ़्तार से प्रगति कर रहा है।

चलिए आसान भाषा में समझते हैं। मान लीजिये भारत में एक वर्ष में तैयार उत्पाद (सभी प्रकार की सामान) और सेवाएं (सभी तरह के कार्य) मिला दी जाएँ और उनकी कीमत बाज़ार के हिसाब से जोड़ दी जाये तो उस कीमत को ही भारतीय अर्थव्यवस्था की जीडीपी कहेंगे। मतलब एक साल की गणना के अनुसार जितना भी उत्पादन (प्रोडक्शन) हुआ उसे ही GDP कहते हैं।  

बता दें कि जीडीपी मुख्य रूप से तीन चीजों कृषि (Agriculture), उधोग (Industry) और सेवाओं (Services) पर निर्भर होती है। इन तीनों क्षेत्रों में उत्पादन भढने और घटने के औसत के आधार पर जीडीपी तय की जाती है। 

किसी देश की जीडीपी में राष्ट्रीय जनसंक्या से भाग कर उस देश की प्रति व्यक्ति जीडीपी ज्ञात की जा सकती है।

जीडीपी का फुल फॉर्म क्या होता है? | gdp ka full form

जीडीपी की फुल फॉर्म की बात करें तो इसका पूर्ण रूप ‘Gross Domestic Product’ होता है जिसे हिंदी में ‘सकल घरेलू उत्पाद’ कहते हैं।

जीडीपी की गणना कैसे करते हैं? | how is gdp calculated in hindi

बता दें कि जीडीपी की गणना किसी देश के भीतर हुए कुल उत्पादन (सामान बनने) के आधार पर की जाती है। मतलब घरेलू सामान को ही गिना जाता है। मान लें कि कोई चीज भारत देश के भीतर बनकर बाहर (Export) बिकती है तो उससे कमाया पैसा भी भारत की जीडीपी में शामिल हो जाता है। ठीक इसी प्रकार किसी अन्य देश की चीज भारत में बिक रही है तो उस पैसे को भारत की जीडीपी (gdp) में शामिल नहीं किया जायेगा। वल्कि उसी देश की जीडीपी में शामिल किया जायेगा जहाँ से वह चीज आयात की गई है।

जीडीपी की वैल्यू निकालते समय कुल निर्यात (एक्सपोर्ट) करने को जोड़ा जाता है। और हम जितना भी आयात (इम्पोर्ट) करते हैं। वह घटा दिया जाता है। और अंत का आंकणा जीडीपी में रख लिया जाता है।

मतलब जितना भी उत्पादन हुआ और सरकार ने जितने भी खर्चे किये। आयात/निर्यात के बाद जो भी खर्चा होकर बचता है। वह साथ में जुड़कर एक देश की कुल आय मतलब जीडीपी (gdp in hindi) कहलाती है।

चलिए एक उदहारण से समझते हैं कि जीडीपी (gdp in hindi) की गणना कैसे करते हैं? –

मान लीजिये कि किसी देश में एक साल में 10 मोबाइल बनते हैं। प्रत्येक मोबाइल की कीमत 10,000 (दस हजार) रूपये है तो उस देश की कुल जीडीपी 100,000 (एक लाख) रुपये होगी।

इसे भी जाने: सबसे ताक़तवर महिला एंजेला मेर्केल का जीवन परिचय?

जीडीपी गिरने से क्या होता है?

जीडीपी की गणना होने का सबसे ज्यादा असर आम जनता और गरीब लोगों पर पड़ता है। यदि किसी देश की जीडीपी की रफ़्तार बहुत धीमी रहती है तो उसका सीधा असर गरीबी-रेखा के नीचे रहने वालों लोगो पर पड़ता है। जिससे वह देश और ग़रीबी की ओर बढ जाता है। 

जीडीपी की गणना क्यों की जाती है?  

जीडीपी की गणना किसी भी देश की अर्थव्यवस्था का हाल बताती है। जीडीपी की एक संख्या होती है जो बताती है कि उस देश की आर्थिक स्थिति क्या है? जीडीपी की गणना एक निश्चित समय के लिए की जाती है। और इसकी तुलना कर ही जाना जाता है कि किसी देश की आर्थिक स्थिति क्या है?   

किसी देश की जीडीपी कैसे बढती है?

बता दें कि किसी भी देश की जीडीपी तब बढती है। जब उसी देश के निवासी उसी देश में बनी हुई चीजें खरीदते हैं। इसके अलावा उस देश की चीजें अन्य देशों में निर्यात (एक्सपोर्ट) हो तब भी उस देश की जीडीपी में ग्रोथ होती है। 

जीडीपी (GDP) शब्द की खोज कैसे हुई थी?

जीडीपी का प्रस्ताव सबसे पहले यूनाइटेड स्टेट्स कांग्रेस की रिपोर्ट के साथ अमेरिकी अर्थशास्त्री साइमन कजनेट (Simon Kuznets) ने 1934 में दिया था। इसी प्रकार 1935 से लेकर 1944 तक यूनाइटेड स्टेट्स की अर्थव्यवस्था की जीडीपी मापने के लिए इस्तेमाल किया गया था।

इसके बाद जीडीपी का इस्तेमाल अंतराष्ट्रीय तौर पर IMF (International Monetary Fund) के द्वारा निर्धारित कर दिया गया और आज लगभग हर देश अपनी अर्थव्यवस्था मापने के लिए इसका इस्तेमाल करता है।

इंडिया की जीडीपी कितनी है? | gdp of india 2021

यदि भारत की जीडीपी (gdp of india) की बात करें तो 2020 में IMF अनुसार भारत की कुल जीडीपी 2.59 ट्रिलियन डॉलर है जोकि भारत को दुनिया का 6वां सबसे अमीर देश बनाता है।  

जीडीपी की गणना लगभग हर साल होती है। लेकिन भारत में इसकी गिनती हर तीन महीने में एक बार की जाती है।  

भारत में जीडीपी की गणना केन्द्रीय सांख्यिकी कार्यालय (Central statistical office) करता है जोकि सभी केन्द्रीय और राज्यों की एजेंसियों से मिलकर उनके साथ आंकने जुटाता है।

अंत में बता दें कि अंतराष्ट्रीय मुद्रा कोष, सयुंक्त राष्ट्र, यूरोपियन संघ, ‘आर्थिक सहयोग एवं विकास संगठन’ और विश्व बैंक के प्रतिनिधिओं ने मिलकर “सिस्टम ऑफ़ नेशनल अकाउंट 1993 (System of National Accounts 1993)” का गठन किया था। जिसके अनुसार जीडीपी मापने का अंतराष्ट्रीय मानक तय किया था। जिसे SNA93 कहा जाता है।   

निष्कर्ष: Conclusion

इस लेख में इतना ही जिसमे हमने जीडीपी क्या होती है? | GDP Full Form के अलावा how is gdp calculated in hindi, gdp ka full form और इंडिया की जीडीपी कितनी है? (gdp of india), what is gdp in hindi, meaning of gdp in hindi को भी कम और सरल शब्दों में समझाया है। इस लेख से सम्बंधित आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएँ।   

Leave a Reply