यूरोपियन यूनियन क्या है और इसमें कितने देश हैं?

दोस्तों आपने “एक से भले दो और दो से भले चार” कहावत तो जरूर सुनी होगी। यदि दो या चार से भी ज्यादा एक साथ इकट्ठे हो जाये तो वह एक संगठन बन जाता है। इस लेख के अंत तक आप एक ऐसे ही दुनिया के शक्तिशाली संगठन के बारे में जानने वाले हैं जो एक साथ मिलकर दुनिया की महान आर्थिक-शक्ति, राजनीतिक एवं सुरक्षा जैसे मुददों को देखता है। इस विषय की महत्वपूर्णत़ा को देखते हुए; हम आशा करते हैं कि आप यहाँ यूरोपियन यूनियन क्या है और इसमें कितने देश हैं? इन सभी के बारे में सटीक रूप से अंत तक जरूर पढेंगे।

यूरोपियन यूनियन क्या है? | European union in hindi

यूरोपीय यूनियन यूरोप-महाद्वीप में बसे 27 देशों का राजनीतिक एवं आर्थिक समूह है। इस समूह में मौजूद सभी देश आपस में मुक्त व्यापार (Tax free) करने के अलावा किसी भी प्रकार की मुश्किलों का मिलकर सामना करते हैं। यूरोपियन यूनियन को शोर्ट रूप में EU भी कहा जाता है। इस संघ के लगभग सभी देशों के नागरिक किसी भी समूह-देश में बिना पासपोर्ट के आसानी से आ जा सकते है और काम/व्यापार कर सकते हैं क्योंकि इन देशों के बीच बॉर्डर जैसी समस्याएं नहीं हैं। और यही चीज यूरोपियन संघ (EU) को दुनिया की सबसे बड़ी आर्थिक शक्तियों में शामिल करती है।

बता दें कि यूरोपीय यूनियन (EU) का अपना खुद का संसद है और इसकी खुद की अपनी नीतियाँ हैं जोकि सभी समूह-देश के लिए लागू होती हैं। यदि कोई समूह-देश इन नीतियों को मानने से इनकार कर देता है तो वह नीतियाँ (पॉलिसी) उस देश में लगभग लागू नहीं होती है, मतलब यूरोपियन संघ शामिल सभी देशों की इच्छाओं का सम्मान करता है।

इसका सबसे बड़ा उदहारण यह है कि EU की खुद की मुद्रा (यूरो करेंसी) है। लेकिन यह केवल 19 देशों में ही मान्य है। जिन्हें हम यूरो-ज़ोन कहते है क्योंकि यहाँ यूरो चलता है। क्योंकि बाकी के 8 समूह-देश इस मुद्रा को अपने देश में संचालित नहीं करते हैं जो यह दर्शाता है कि यूरोपियन यूनियन कुछ चीजों में समूह-देशों का सर्मथन भी करता है। लेकिन बड़े मुद्दों में समूह-देश यूनियन की नीतियों के खिलाफ नहीं जा सकते हैं जैसे कि हमने ब्रिटेन के साथ देखा था क्योंकि ब्रिटेन (यूनाइटेड किंगडम) ने इस इस संघ से बाहर निकलने के लिए दशकों तक बहुत संघर्ष किया था तब जाकर ब्रिटेन इस संघ (यूरोपियन यूनियन) से बाहर निकल पाया था। 

यूरोपियन यूनियन में कितने देश शामिल हैं? | European union members | European union countries list 2021

यूरोपियन यूनियन में 2021 के अनुसार कुल देशों की संख्या 27 है।

  1. जर्मनी (Germany)
  2. फ्रांस (France)
  3. इटली (Italy)
  4. लक्समबॉर्ग (Luxembourg)
  5. बेल्जियम (Belgium)
  6. नीदरलैंड (Netherlands)
  7. आयरलैंड (Ireland)
  8. डेनमार्क (Denmark)
  9. पुर्तगाल (Portugal)
  10. स्पेन (Spain)
  11. ग्रीस (Greece)
  12. ऑस्ट्रिया (Austria)
  13. फ़िनलैंड (Finland)
  14. स्वीडन (Sweden)
  15. रिपब्लिक ऑफ़ सायप्रस (Republic of Cyprus)
  16. चेक रिपब्लिक (Czech Republic)
  17. एस्टोनिया (Estonia)
  18. हंगरी (Hungary)
  19. लेटविया (Latvia)
  20. लिथुआनिया (Lithuania)
  21. माल्टा (Malta)
  22. पोलैंड (Poland)
  23. स्लोवाकिया (Slovakia)
  24. स्लोवेनिया (Slovenia)
  25. रोमानिया (Romania)
  26. बुल्गारिया (Bulgaria)
  27. क्रोएशिया (Croatia)

इससे पहले यह संघ (EU) 28 देशों का समूह था। लेकिन 31 जनवरी 2020 में यूनाइटेड किंगडम (ब्रिटेन) के कई सर्तों के साथ बाहर हो जाने के बाद इसमें कुल सदस्य देशों की संख्या 27 रह गई है।

यूरोपियन यूनियन की स्थापना कब और क्यों हुई थी? | European union history in hindi

यूरोपियन यूनियन (EU) की स्थापना की बात करें तो इसकी स्थापना सबसे पहले 6 देशों ने  एक साथ मिलकर की थी। जिसका मुख्य उद्देश्य कर-मुक्त (Tax Free) व्यापार करना था। जिसमे यह देश बिना किसी परेशानी के एक साथ मिलकर आयात और निर्यात कर सकें और एकजुट होकर तरक्की कर सकें। 

इस संघ को आज हम यूरोपियन संघ (European Union) के नाम से जानते हैं। लेकिन इस संघ के गठन के समय इसका नाम ECSC मतलब यूरोपियन यूनियन कोल स्टिल कम्युनिटी (European coal and Steal  community) था जोकि पेरिस-संधि के दौरान रखा गया था।

पेरिस संधि की स्थापना 1951 में 6 सदस्य देशों जेर्मनी, फ्रांस, इटली, बेल्जियम, लक्समबॉर्ग और नीदरलैंड ने मिलकर की थी। इस संधि का मुख्य उद्देश्य यह था कि सभी देश मिलकर कोयले और स्टील उधोग को विकसित कर आर्थिक रूप से मजबूत हो सकें।

इन 6 देशों ने पेरिस संधि की सफलता से प्रेरित होकर 1957 में एक और संधि का गठन किया। जिसे हम रोम-संधि के नाम से जानते हैं। और इस संधि में ECSC को बदलकर EEC कर दिया मतलब यूरोपियन आर्थिक समुदाय (European economic community) बना दिया। 

इन देशों के आर्थिक विकास को देखते हुए वर्ष 1973 को इस समुदाय में 3 देश यूनाइटेड किंगडम (ब्रिटेन), आयरलैंड और डेनमार्क भी शामिल हो गए। जिसके बाद EEC में कुल देशों की संख्या 9 हो गई।

इन देशों के बेहतर विकास को देखते हुए 1981 से 1986 तक इसमें 3 देश पुर्तगाल, स्पेन और ग्रीस (यूनान) भी शामिल हो गए और कुल देशों की संख्या 12 हो गई।

इस संघ (EEC) की बेहतरी के लिए 1991 में मेस्ट्रिच संधि हुई और इसमें कई महत्वपूर्ण बदलाव किये गए। जिसमे पहला इसका नाम बदलकर यूरोपियन संघ (European Union) कर दिया गया। दूसरा बदलाव इस संघ के लिए एक मुद्रा का निर्माण कर दिया गया; जिसका नाम यूरो रखा गया गया था।  

इसके बाद वर्ष 1995 में इस संघ में 3 और नये देश ऑस्ट्रिया, फ़िनलैंड और स्वीडन शामिल हुए। इसके बाद EU में कुल देशों की संख्या 15 हो गई।

वर्ष 2004 में नाइस-संधि के तहत यूरोपियन यूनियन के इतिहास में सबसे बड़ा विस्तार हुआ। जिसमे कि पूर्वी यूरोप के 10 नए देश एक साथ शामिल हुए और इसमे अब कुल 25 देश शामिल हो गए थे जो उस समय दुनिया का सबसे बड़ा आर्थिक समुदाय बन गया था।

इस दुनिया के सबसे बड़े आर्थिक और राजनीतिक समूह में जनवरी 2007 को पूर्वी यूरोप के 2 देश रोमानिया और बुल्गारिया शामिल हुए और संक्या 27 हो गई। इसके बाद अंत में 1 जुलाई, 2013 को क्रोएशिया को शामिल हो यूरोपियन यूनियन की संख्या 28 हो गई।

एक बार दौबारा बता दें कि 2020 में यूनाइटेड किंगडम के बाहर हो जाने के बाद इस संघ में कुल देशों की संख्या 27 रह गई है। यूनाइटेड किंगडम इस संघ से बाहर निकलने वाला पहला और इकलौता देश बन गया है।

इन सभी संधियों के अलावा एक और सुधार के अंतर्गत 2007 में लिस्बन-संधि बनी; जिसे 2009 में लागू किया गया था। इस संधि से पहले यूरोपियन यूनियन की कमजोर निर्णय प्रक्रिया को मजबूत करने जैसे कई निर्णय लिये गए। इसमें इन्होने दुनिया में शांति स्थापित करने के लिए रिफ्यूजियों को जगह देने जैसे काम किये। इन सभी चीजों को देख EU को 2012 में शांति का नोबेल पुरुष्कार दिया गया था। 

तो दोस्तों यहाँ तक ‘यूरोपियन यूनियन क्या है और इसमें कितने देश हैं?’ के बारे में पढकर आप सोच सकते हैं कि इस संघ का इतिहास कितना मजबूत रहा है।

इसे भी जाने: ज़र्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल का रोचक जीवन

यूरोपियन संघ का मुख्यालय कहाँ है? | European union head quarter

यूरोपियन यूनियन का मुख्यालय बेल्जियम की राजधानी ब्रुसेल्स में स्थित है। इसके आलवा इसके दो जगह स्ट्राबर्ग और लक्जमबर्ग में भी कार्यालय है। EU के ज्यादातर कार्यालय बेल्जियम देश में स्थित हैं।   

यूरोपियन यूनियन की नीति और अजेंडे क्या है? | Functions of European union

बता दें कि यह संघ कई चरणों में काम करता है। जिसमे इसकी कई बॉडी हैं –

यूरोपियन परिषद (European Council)

यूरोपियन यूनियन की यह सर्वोच्च एवं महत्वपूर्ण संस्था (बॉडी) है। जिसमे सभी समूह-देशों के राष्ट्र अध्यक्ष या शासन अध्यक्ष हिस्सा लेते हैं और इसकी साल में 4 बार बैठकें होती हैं।

यूरोपियन आयोग (European Commission)

यूरोपियन यूनियन के इस आयोग का मुख्य एजेंडा संघ की नीतियों को लागू करना और नई नीतियाँ बनाना है।

योरोपियन संघ परिषद (Council of EU)

इस परिषद के द्वारा ही यूरोपियन आयोग के सदस्य चुने जाते हैं। इसमें समूह-देशों के सभी मंत्री होते है जोकि यूरोपियन यूनियन के मंत्री परिषद के रूप में काम करते है। इसका मुख्यालय ब्रुसेल्स में स्थित है। 

यूरोपियन संसद (European parliament)

यूरोपियन यूनियन की खुद की संसद है जोकि ‘सयुंक्त राष्ट्र की महासभा’ के बाद दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी संसद है। इसमें 751 सदस्य हैं जोकि समूह-देश की जनसंख्या के आधार पर सभी देशों से चुने जाते हैं। इसी संसद में कानून का निर्माण और बजट स्वीकृत जैसे काम किये जाते हैं।

यूरोपियन संघ न्यायपालिका (Court of Justice of EU)

इस न्यायपालिका की स्थापना 1989 में लक्समबॉर्ग की गई थी। इस न्यायलय में संघ की सभी संधि और उनके कानूनों की सुनबाई होती है। यहाँ समूह-देशों की सीमायें और नीतियों जैसे उल्लंघनों पर नजर रखी जाती है।

यूरोपियन केन्द्रीय बैंक और लेखा-परीक्षक न्यायलय (European Central Bank & European Court of Auditors)

यह यूरोपियन संघ की जरूरी बॉडीयां है। जिनकी स्थापना वर्ष 1991 में मेस्ट्रिच संधि के रूप में हुई थी। उस दौरान यह तय किया गया था कि EU की एक सामान्य मुद्रा होगी। जिसका नाम यूरो रखा गया था। यह एक बैंक है जो सभी समूह-देशों से मिलकर एक सेंट्रल बैंक बनाती है जोकि फ्रैंकफर्ट, जर्मनी में मौजूद है। 

निष्कर्ष: The Conclusion

बस दोस्तों, इस लेख में इतना ही जिसमे यूरोपियन यूनियन क्या है और इसमें कितने देश हैं?  इसके अलावा यूरोपियन यूनियन (EU) का इतिहास क्या है? European union government, European union in hindi को कम और सरल शब्दों में समझाने की कोशिश की है। इसके अलावा हमें पूरा विश्वास है कि यूरोपियन यूनियन से जुडी यह पूर्ण और विस्तारित जानकारी इस वेबसाइट के अलावा किसी अन्य वेबसाइट पर देखने को नहीं मिलेगी।

इस लेख से सम्बंधित आपका किसी भी प्रकार का सवाल या सुझाव हो तो हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएँ। हमारा पूरा प्रयास रहेगा कि आपके अनुसार इस लेख में परिवर्तन किया जाये।

यदि आपको यूरोपियन यूनियन (European Union) से जुडी यह विस्तार एवं पूर्ण जानकारी पसंद आयी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर जरूर शेयर करें।   

This Post Has 6 Comments

  1. CBD oil for pain

    Please let me know if you’re looking for a article author for your blog.
    You have some really good articles and I believe I would be a good asset.
    If you ever want to take some of the load off, I’d really like to write some material for your blog in exchange for a link back to mine.
    Please send me an e-mail if interested. Thank you!

    1. Hariom K.

      I really thank you.

      Yeah, I really appreciate it too If you’ll be a part of the HindiLeaf family.

  2. pattern-wiki.win

    Hey! This post couldn’t be written any better!
    Reading this post reminds me of my previous room mate! He always kept talking about this.
    I will forward this post to him. Fairly certain he will have a good read.
    Many thanks for sharing!

  3. It’s really a cool and useful piece of info.
    I’m happy that you shared this useful information with us.
    Please keep us informed like this. Thank you for sharing.

  4. There are some fascinating deadlines in this article however I don’t know if I see all of them center to heart. There may be some validity but I’ll take hold opinion until I look into it further. Good article , thanks and we want more! Added to FeedBurner as effectively

Leave a Reply