दुनिया का सबसे छोटा देश कौन सा है

हैलो दोस्तों, क्या आपको पता है कि दुनिया का सबसे छोटा देश कौन सा है और वह किस महाद्वीप में स्थित है? तो इस आर्टिकल के अंत तक बने रहिये क्योंकि आप दुनिया के सबसे छोटे देश और इस देश के बनने के इतिहास से लेकर इससे जुड़े कई रोचक तथ्यों के बारे मे पढेंगे।

दुनिया का सबसे ज्यादा क्षेत्रफल वाला देश रूस और वहीं सर्वाधिक जनसँख्या वाले देश चीन, भारत और सयुंक्त राज्य अमेरिका को तो आप भली-भांति जानते हैं जोकि दुनिया की महाशक्तियों के रूप मे गिने जाते हैं। इसके अलावा दुनिया मे कुछ ऐसे भी देश हैं; जिनके बारे में शायद ही लोग जानकारी रखते हैं।

लेकिन आप इस लेख मे दुनिया के सबसे छोटे देश जोकि सयुंक्त राष्ट्र (UN) के द्वारा मान्यता प्राप्त 195 देशों की सूची मे आधिकारिक तौर पर अस्थायी-सदस्य देश के रूप मे एक स्वतंत्र राज्य बने हुए है। आपको जानकार हैरानी होगी लेकिन यह देश भारत के 36 राज्यों में मौजूद सभी जिलों के किसी भी कस्बे से भी छोटा देश है। तो चालिए जानते हैं कि दुनिया का सबसे छोटा देश कौन सा है (Smallest country in the world in hindi)?

दुनिया का सबसे छोटा देश कौन सा है | Smallest country in the world

दुनिया के सबसे छोटे देश का नाम वेटिकन सिटी है। बता दें कि वेटिकन सिटी (होली सी) जोकि यूरोप महाद्वीप मे मौजूद इटली देश की राजधानी रोम शहर के द्वारा चारों ओर से घिरी हुई है। मतलब वेटिकन सिटी (Vatican City) रोम शहर के बीच स्थित है। वेटिकन सिटी के आकार की बात करें तो यह 44 हैक्टर (108.72 एकड़) के क्षेत्रफ़ल मे फैला हुआ है। इसके अलावा इस देश की जनसंख्या की बात करें तो वर्ष 2021 के अनुसार इसकी कुल जनसंख्या 803 लोगों की है।  

बता दें कि इसाई धर्म-गुरु पॉप (Pope)के द्वारा राजशाही सत्ता वाले इस देश (Vatican City in hindi) मे इटालियन भाषा बोली जाती है। इसके अलावा इतना छोटा देश होने के बाबजूद इस देश की अपनी खुद की सरकार (न्याय-व्यवस्था), सैना, राष्ट्रीय-ध्वज, मुद्रा, टाइम-ज़ोन, डाकघर और रेडियो-स्टेशन आदि हैं। इसके अलावा इस देश के नागरिकों के पास हवाईअड्डा न होने के बाबजूद भी पासपोर्ट की सुविधा रखते हैं।

जान लें कि वेटिकन सिटी (Vatican City) इसाई धर्म की एक प्रमुख शाखा ‘रोमन कैथोलिक चर्च’ (Roman Catholic Church) का प्रमुख केंद्र है। इसके अलावा यहाँ ‘कैथोलिक धर्म’ को मानने वाले लोगों के सबसे बड़े धर्म-गुरु पॉप फ्रांसिस का निवास स्थान है। इसी कारण ‘कैथोलिक धर्म’ को मानने वाले लोग वेटिकन सिटी के आर्थिक-विकास में अधिक सहयोग करते हैं।

वेटिकन सिटी बनने का इतिहास | Vatican City history in hindi

अब आपके मन मे यह सवाल तो जरूर आ रहा होगा कि आखिर इतनी कम क्षेत्रफ़ल के साथ इस देश को बनाने (निर्माण) की आवश्यकता क्यों पड़ी थी? तो चलिए वेटिकन सिटी (Vatican City in hindi) के एक स्वतंत्र देश बनने के इतिहास के बारे मे जानते हैं तो यह धार्मिक और राजनीतिक-कारणों के चलते एक अलग देश बन गया था।

बता दें कि 18वीं सदी के दौरान इटली देश कई राज्यों मे बंटा हुआ था। जिसमे रोम (Rome) के समीपवर्ती प्रदेशों में धार्मिक आस्था के चलते चर्च का शासन स्वीकार किया जाने लगा था। लेकिन समय गुजरा और इटली कई राज्यों से मिलकर एक-जुट स्वतंत्र देश बन गया। इसके बाद पॉप्स (Popes) के द्वारा चर्चों का शासन इटली से लगभग समाप्त हो गया। लेकिन 1929 आते-आते ‘कैथोलिक चर्च’ और उसके सबसे बड़े धर्म-गुरु पॉप के साथ इटली सरकार का समझौता हुआ और वेटिकन सिटी के रूप मे दुनिया का सबसे छोटा देश बना दिया गया।

इसके अलावा वेटिकन सिटी मे ‘रोमन कैथोलिक चर्च’ (Roman Catholic Church) होने के साथ-साथ यहाँ इसाई धर्म के सबसे बड़े धर्म-गुरु पॉप बैठते हैं। इस ‘कैथोलिक चर्च’ (Catholic Church) के पॉप को ईसा मसीह का प्रतिनिधि के रूप मे देखा जाता है। इसी कारण पॉप के अनुयायी चाहते थे कि पॉप किसी देश या राज्य के अधीन न रहें। इसीलिए वर्ष 1929 में ‘रोमन कैथोलिक चर्च’ और इटली के बीच समझोता हुआ; जिसमे 44 हैक्टर ज़मीन चर्च को देते हुए वेटिकन सिटी को एक स्वतंत्र राज्य के रूप में घोषणा कर दी।

वेटिकन सिटी (Vatican City) को अनैकों सुविधाओं की जरूरतों के चलते हमेशा से इटली से समझोता करना पड़ा है। इसी कारण कहीं न कहीं वेटिकन सिटी का निवासी इटली का भी निवासी है।

वेटिकन सिटी एक बहुत छोटा देश होने के कारण चारों ओर से मोटी-मोटी और ऊँची दीवारों से घिरा हुआ है लेकिन समय के साथ-साथ इन दीवार के कमजोर होने के साथ कई हिस्सों टूट भी चुकी हैं।

वेटिकन सिटी क्यों प्रसिद्ध है | Why Vatican city is famous in hindi

दुनिया के सबसे छोटे देश होने के बाबजूद भी इस देश मे प्राचीन रोमन मूर्तियों के संग्रहालय (Museum), गिरजाघर (Church), वेटिकन पार्क और खूबसूरत प्रतिष्ठित वास्तुकला का संग्रह मौजूद है। आप इस देश को महज घंटों मे पूरा घूम सकते हैं।

बता दें कि आप वेटिकन सिटी के चर्च की बनावट और सुन्दरता को देख एक दम चका-चौंध हो जायेंगे। इसके अलावा पर्यटक टिकेट लेकर चर्च (name of church) के उपरी हिस्से (गुम्बद) पर चड़कर पूरे शहर का सुन्दर नजारा देख सकते हैं। इसी कारण दुनिया भर से लोग यहाँ घूमने के लिए आते हैं जोकि इस देश की आर्थिक विकास मे बहुत बड़ा योगदान देता है।

वेटिकन सिटी दुनियाभर के इसाईयों के लिए पवित्र स्थान माना जाता है जोकि धर्मगुरु पॉप का निवास-स्थान है। यदि कैथोलिक चर्च के मौजूदा पॉप की बात करें तो यह पॉप फ्रांसिस (Pope Francis) हैं जोकि 2013 मे वेटिकन सिटी के पॉप (Pope) के रूप में चुने गए हैं। इसके अलावा पॉप फ्रांसिस का बचपन के नाम जोर्ज मारियो बर्गोग्लियो (Jorge Mario Bergoglio) और इनका जन्म 17 दिसम्बर, 1936 को अर्जेंटीना देश के बूएनोस एरेस (Buenos Aires) शहर में हुआ था।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि वेटिकन सिटी के ‘सेंट पीटर्स चर्च’ (St. Peter’s Church) जोकि दुनिया का सबसे भव्य और विशाल चर्च है। इस चर्च के अलावा पूरे वेटिकन सिटी को उनेस्को द्वारा विश्व इतिहासिक धरोहर के रूप मे जोड़ा गया था। इसके अलावा इस छोटे से देश में एक रेलवे स्टेशन भी मौजूद है जोकि पर्यटकों बहुत अधिक सहूलियत प्रदान करता है।

इसे भी पढें: दुनिया के सात अजूबे कौन-कौन से हैं?

FAQs – बार-बार पूछे जाने वाले प्रश्न

क्षेत्रफल की द्रष्टि से विश्व का सबसे छोटा देश कौन सा है?

क्षेत्रफल की द्रष्टि से विश्व का सबसे छोटा देश वेटिकन सिटी (Vatican City) है।

वेटिकन सिटी का क्षेत्रफ़ल कितने किलोमीटर है?

यदि वेटिकन सिटी (Vatican City) के क्षेत्रफ़ल की बात करें तो इसका कुल क्षेत्रफल 0.44 किमी०2 (44 हैक्टर या108.72 एकड़) है।

एशिया का सबसे छोटा देश कौन सा है?

एशिया मह्द्वीप का सबसे छोटा देश मालदीव (Maldives) है जोकि लगभग 300 किमी०2 क्षेत्रफ़ल मे फैला हुआ है।

दुनिया का सबसे कम आबादी वाला देश कौन सा है?

दुनिया का सबसे कम आबादी वाला देश वेटिकन सिटी (Vatican City) है।

वेटिकन सिटी की जनसंख्या कितनी है?

यदि वेटिकन सिटी (Vatican City) की जनसँख्या की बात करें तो 2021 के अनुसार इस देश की कुल आबादी 803 की है। बता दें कि इस जनसँख्या में समयानुसार उतार-चढाव देखने को मिलता रहता है।

वेटिकन सिटी के प्रधानमंत्री कौन हैं?

वेटिकन सिटी (Vatican City) का प्रधानमंत्री (President of the Pontifical Commission for Vatican City State) की बात करें तो यह गिउसेप बर्टेलो (Giuseppe Bertello) हैं। लेकिन वेटिकन सिटी मे सबसे बड़ा औदा (पद) पॉप फ्रांसिस (Pope Francis) का ही है।

वेटिकन सिटी राजमहल में कौन रहता था?

वेटिकन सिटी राजमहल (Vatican palace) में रहने की बात करें तो यह प्रारम्भ से ही कैथोलिक चर्च के धर्म-गुरुओं पॉप्स का अधिकारिक निवास रहा है। पॉप के अलावा इस वेटिकन पैलेस में अन्य अधिकारी और सहकर्मी भी रहते हैं।

वेटिकन सिटी में बच्चे पैदा क्यों नहीं होते?

ज्यादातर लोग यह जानना चाहते हैं कि वेटिकन सिटी में बच्चे पैदा क्यों नहीं होते? जैसे कि आप उपर्युक्त लेख से जान गए होंगे कि वेटिकन सिटी कहीं न कहीं इटली की राजधानी रोम का ही हिस्सा है। इसी कारण वेटिकन सिटी के निवासी आसानी से इटली में आ-जा सकते हैं और अधिकतर युवा इटली के कई शहरों मे रहते भी हैं। इसके अलावा दूसरा कारण वेटिकन सिटी में सभी प्रकार की मेडिकल सुविधाएँ न होने के कारण उन्हें तकनीकी रूप से इटली की ओर रुख करना पड़ता है। इसी कारण वेटिकन सिटी के सभी बच्चे इटली के अस्पतालों में जन्म लेते हैं।  

वेटिकन सिटी में कितने जिले हैं?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि वेटिकन सिटी मे कोई भी जिला नहीं है।

निष्कर्ष: The Conclusion

इस लेख में इतना ही जिसमे आपने दुनिया का सबसे छोटा देश कौन सा है (duniya ka sabse chhota desh kaun sa hai) और इसके अलावा वेटिकन सिटी बनने का इतिहास (Vatican City history in hindi), वेटिकन सिटी के रोचक तथ्यों (Interesting facts about Vatican city in hindi) को भी भली-भाँती समझाया है। यदि इस लेख से सम्बंधित आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएँ।

यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो तो इसे अपने दोस्तों, रिश्तेदारों और परिवार-जन के साथ Whatsapp, Facebook, Telegram आदि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर जरूर साझा करें।

This Post Has One Comment

Leave a Reply