दुनिया के सभी महासागरों के नाम | दुनिया में कुल कितने सागर हैं

गोलाकार प्रथ्वी को अक्सर नीले गृह के रूप में जाना जाता है। इसका मुख्य कारण प्रथ्वी के पूरे हिस्से पर लगभग 71% पानी भरा हुआ भाग है तो वहीं लगभग 29 प्रतिशत ज़मीनी भाग है। हमारे गृह प्रथ्वी पर जल की बहुत ज्यादा अधिकता को देखते हुए हमें पानी के मुख्य श्रोतों के बारे में विस्तार से जानना बहुत जरूरी है। इसलिए आप इस आर्टिकल में दुनिया के सभी महासागरों के नाम | दुनिया में कुल कितने सागर हैं ? के बारे में पढकर प्रथ्वी पर मौजूद जल के विस्तार को जरूर जानेंगे हैं। 

प्रथ्वी जोकि मुख्यतः सात महाद्वीप में बंटी हुई है मतलब प्रथ्वी में सभी देश और उनमे रहने वाले निवासी सात महाद्वीपों में रहते हैं। लेकिन इस आर्टिकल में आप प्रथ्वी पर मौजूद पानी की विशेषताओं मतलब दुनिया में कुल कितने सागर (sea) और महासगर (ocean) हैं? यह सभी जानने वाले हैं तो उम्मीद है कि आप इस आर्टिकल को अंत तक पढकर अपनी जानकारी को जरूर बढ़ाएंगे।

सागर और महासागर में क्या अंतर होता है

यदि बात करें कि सागर यानिकि समुन्द्र (sea) और महासागर (ocean) में क्या अंतर होता है? यह जानने के लिए इस आर्टिकल को आगे पढ़ते रहिए।

सागर और महासागरों के बीच सबसे बड़ा अंतर आकार का होता है मतलब सागर (समुन्द्र) महासागरों से बहुत छोटे होते हैं। इसके अलावा हम इसे इस प्रकार से भी जान सकते हैं कि सागर (समुन्द्र) महासागर के ही हिस्से होते हैं जोकि मुख्य रूप से ज़मीन से जुड़े हुए हिस्से होते हैं। जिस कारण सागर (समुन्द्र) के किनारे पेड-पौधे एवं अनैकों प्रकार के जीव-जंतुओं का फल-फूलना संभव हो जाता है क्योंकि इन्हें पानी के साथ-साथ भरपूर मात्रा में सूर्य की रोशनी मिलती रहती है।

महासागर (oceans) सागरों (seas) से बड़े तो होते ही हैं साथ में वह कई गुना अधिक गहरे होते हैं। वहीं समुन्द्र के तल की गहराई तो मापी जा सकती है और उसमे आसानी से वैज्ञानिक-सौध किये जा सकते हैं, लेकिन महासागरों की वास्तविक गहराई को माप पाना बहुत मुश्किल है इसके अलावा इनमें सूर्य की रोशनी तक नहीं पहुँच पाती है। इसी कारण आज के आधुनिक-दौर में भी हजारों-राज महासागरों (ओसियन्स) की गहराई में दफ़न हैं।

महासागर किसे कहते हैं – What is meaning of ocean in Hindi

जैसे कि आप जानते हैं कि प्रथ्वी का लगभग 71% भाग जल यानिकि पानी से ढका हुआ है जोकि विशाल जल-मंडल का निर्माण करता है। ठीक इसी तरह लगभग 29% प्रथ्वी का बचा हुआ भाग महाद्वीपों के नाम से जाना जाता है। पानी के इस विशाल जल-मंडल को निर्धारित-सीमाओं के द्वारा अलग-अलग महासागरों में बाँटा हुआ है जोकि प्रथ्वी का 3/4 हिस्सा घेरने के साथ इस नीले गृह (प्रथ्वी) का लगभग 97% भाग है।

आपस में जुड़े इन महासागरों के समूहों के कारण ही प्रथ्वी पर अलग-अलग मौसम और जीवन संभव बनाने में अहम भूमिका निभाता है।

दुनिया के सभी महासागरों के नाम – All oceans name in hindi

चलिए बात करते हैं कि विश्व में कितने महासार हैं और उनके क्या नाम है? विश्व यानिकि प्रथ्वी पर प्रमुख रूप से पाँच महासागर (ocean) मौजूद हैं जोकि महाद्वीपों के अनुसार अलग-अलग विशाल सीमाओं में बंटे हुए हैं। चलिए इन महासागरों के नाम और इनकी कुछ विशेषताओं के बारे में जानते हैं। 

  • प्रशांत महासागर (Pacific Ocean)
  • अंध महासागर (Atlantic Ocean)
  • हिन्द महासागर (Indian Ocean)
  • उत्तरध्रुवीय महासागर (Arctic Ocean)
  • दक्षिणध्रुवीय महासागर (Antarctic or Southern Ocean)

प्रशांत महासागर

प्रशांत महासागर (Pacific Ocean) क्षेत्रफल की द्रष्टि से दुनिया का सबसे बड़ा एवं गहरा महासागर (ocean) है। इस महासागर का कुल क्षेत्रफ़ल6,38,00,000 वर्ग मील है जोकि पूरी प्रथ्वी के पानी का लगभग 46% हिस्सा है। यह महासागर पूर्वीएशिया, ऑस्ट्रेलिया, उत्तरी अमेरिका और दक्षिणी अमेरिका के बीच फैला हुआ है। प्रशांत महासागर का सबसे गहरा स्थान मेरिआना गर्त (The Mariana Trench) है जोकि प्रथ्वी का भी सबसे गहरा भाग या हिस्सा है।

दुनिया के लगभग 75% सक्रीय ज्वालामुखी प्रशांत महासागर के क्षेत्र में ही पाए जाते हैं जोकि इस महासागर में गोलाकार-स्थिति में स्थित हैं। जिन्हें इस महासागर में रिंग ऑफ़ फायर (Ring of fire) के नाम से जाना जाता है। इस क्षेत्र में सक्रीय ज्वालामुखियों की अधिकता के कारण भूकंप की स्थिति हमेशा ही बनी रहती है।

अटलांटिक महासागर या अंध महासागर

अटलांटिक महासागर (Atlantic Ocean) या अंध महासागर क्षेत्रफल की द्रष्टि से दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा एवं गहरा महासागर (ocean) है। इस महासागर का कुलक्षेत्रफल4,11,00,000 वर्ग मील है। यह महासागर दक्षिण अमेरिका, उत्तर अमेरिका, यूरोप और अफ्रीका के बीच फैला हुआ है।अटलांटिक महासागरका सबसे गहरा स्थान प्यूटो रिको गर्त (Puerto Rico Trench) हैं।

बता दें कि बरमूडा ट्रायंगल उत्तर अटलांटिक महासगर में स्थित एक क्षेत्र है जोकि भयानक हवाओं और तूफानों के कारण कई सारे पानी के बड़े-बड़े जहाज एवं हवाई जहाज तक लापता हो जाते हैं। इसी कारण इस स्थान के नजदीक से पानी के जहाज और आसमान में हवाई जहाज नही उड़ते हैं।

हिन्द महासागर

हिन्द महासागर (Indian Ocean) क्षेत्रफल की द्रष्टि से दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा एवं गहरा महासागर (ocean) है। इस महासागर का कुलक्षेत्रफल 2,72,40,000 वर्ग मील है। यह महासागर दक्षिण एशिया, अफ्रीका और पश्चिम ऑस्ट्रेलिया के बीच फैला हुआ है। हिन्द महासागरका सबसे गहरा स्थान सुंडा गर्त हैं जिसे पहले जावा गर्त के नाम से भी जाना जाता था।

आर्कटिक महासागर या उत्तरध्रुवीय महासागर

आर्कटिक महासागर (Arctic Ocean) जोकि ‘उत्तर ध्रुव वृत्त’ में स्थित होने के कारण ‘उत्तरी-धुर्वीय महासागर’ के नाम से भी जाना जाता है। आर्कटिक महासागर का कुल क्षेत्रफल 54,27,000 वर्ग मील है जोकि सभी महासागरों में सबसे छोटा महासागर (ocean) है। इस महासागर का विस्तार उत्तर ध्रुवीय के आस-पास है जोकि लगभग पूरी तरह से यूरेशिया और उत्तर अमेरिका से घिरा एवं आंशिक रूप से वर्ष भर समुंद्री बर्फ से ढका रहता है। इसी कारण इसे छिपता हुआ महासागर भी कहते हैं। लेकिन ग्रीष्मकाल में यहाँ की लगभग 50% बर्फ पिघलकर पानी के रूप में परिवर्तित हो जाती है।  

अंटार्कटिक महासागर या दक्षिणध्रुवीय महासागर

अंटार्कटिक महासागर (Antarctic Ocean) को ‘दक्षिण-ध्रुवीय महासागर’ के नाम से भी जाना जाता है। यह महासागर अंटार्कटिका महाद्वीप के चारों ओर फैला हुआ है जोकि दुनिया के सबसे दक्षिण में स्थित एक महासागर है। अंटार्कटिक महासागर के क्षेत्रफल (78,49,000 वर्ग मील) और गहराई के सही-सही आंकड़े अभी तक प्राप्त नहीं है, लेकिन फिर भी इसे पाँचों विशाल महासागरों में से चौथा सबसे बड़ा महासागर (ओसियन) माना जाता है।

सागर किसे कहते हैं – What is mean of sea in Hindi

विश्व में महासागरों के मुकाबले अनैकों सागर या समुन्द्र, झील एवं खाड़ियाँ उपस्थित हैं जोकि आंशिक रूप से महासागर के वह हिस्से होते हैं जो ज़मीन से जुड़े होते हैं। आसान भाषा में कहें तो सागर या समुन्द्र महासागर के वह हिस्से होते हैं जो भूमि के संपर्क में होते हैं। महासागरों की गहराई बहुत अधिकता में होती है वहीं सागरों (समुन्द्रों) की गहराई महासागरों के मुकाबले कम होती है। इसी कारण सागरों में विभिन्न प्रकार के जीव-जन्तु अधिकता में पाए जाते हैं।

सागर या समुन्द्र के बारे में बहुत अच्छे से समझने के लिए भारत से जुड़े सागरों के बारे में जानते हैं। जैसे कि हमारा देश भारत हिन्द महासागर की सीमाओं से जुड़ा हुआ है। चूँकि महासागर (ocean) भूमि के सम्पर्क में आकर सागर (sea) बन जाते हैं। इसी कारण पश्चिमी-भारत अरब सागर से वहीं पूर्वी-भारत बंगाल की खाड़ी (Bay of Bengal) से जुड़ा हुआ है।

बता दें की खाड़ी और झीलें (Gulf and Lakes) समुन्द्र के ही वह छोटे रूप होते हैं जोकि जल (पानी) का वह हिस्सा होता है जो भूमि (ज़मीन) के तीन ओर से घिरा हुआ होता है; इसी कारण इन्हें खाड़ी कहते हैं।

दुनिया के सभी सागरों के नाम – All seas name in hindi

यदि बात करें कि विश्व में कितने सागर हैं तो बहुत सारे देशों की सीमाओं से मिलने के कारण दुनियाभर में अनैक सागर (समुन्द्र) पाए जाते हैं। और इनकी अधिकता का सबसे मुख्य कारण जिस देश की सीमा से जल-सीमा मिलती है तो उस जल-सीमा का नाम उस स्थान (देश) के आधार पर ही रखा गया है। चलिए कुछ प्रमुख सागर, खाड़ी एवं झीलों के बारे में जानते हैं।

  • भू-मध्य सागर – Mediterranean Sea
  • कैरिबियन सागर – Caribbean Sea
  • दक्षिणी चीन सागर – South China Sea
  • बेरिंग सागर – Bering Sea  
  • काला सागर – Black Sea
  • मृत सागर – Dead Sea
  • कैस्पियन सागर – Caspian Sea
  • तस्मान सागर – Tasman Sea
  • कोरल सागर – Coral Sea
  • अराफरा सागर – Arafura Sea
  • सेलेब्स सागर – Celebes Sea
  • फिलीपीन सागर – Philippine Sea
  • पूर्वी चीन सागर – East China Sea
  • पीला सागर – yellow Sea
  • लाल सागर – Red Sea
  • अरब सागर – Arabian Sea
  • जापान सागर – Sea of Japan
  • मरमरा सागर – Sea of Marmara
  • अरल सागर – Aral Sea
  • सारगासो सागर – Sargasso Sea
  • अजोव सागर – Sea of Azov
  • एजियन सागर – Aegean Sea
  • बाल्टिक सागर – Baltic Sea  
  • हडसन की खाड़ी – Hudson way
  • फारस की खाड़ी – Persian Gulf
  • बंगाल की खाड़ी – Bay of Bengal  
  • अलास्का की खाड़ी – Gulf of Alaska  
  • मैक्सिको की खाड़ी – Gulf of Mexico
  • लॉरेंस की खाड़ी – Gulf of Lawrence
  • गिनी की खाड़ी – Gulf of Guinea
  • बाफिन की खाड़ी – Baffin Bay
  • बिस्के की खाड़ी – Bay of Biscay
  • बोथनिया की खाड़ी – Gulf of Bothnia  
  • ओमान की खाड़ी – Gulf of Oman
  • अदन की खाड़ी – Gulf of Aden
  • स्वेज की खाड़ी – Gulf of Suez
  • स्कोटिया सागर – Scotia Sea
  • चुच्ची सागर – Chukchi Sea
  • ब्यूफोर्ट सागर – Beaufort Sea
  • लैब्राडोर सागर – Labrador Sea
  • उत्तरी सागर – North Sea
  • ग्रीनलैंड सागर – Greenland Sea
  • बैरेंट्स सागर – Barents Sea
  • कारा समुन्द्र – Kara Sea
  • सफ़ेद सागर – White Sea
  • एड्रियाटिक सागर – Adriatic Sea
  • अंडमान सागर – Andaman Sea
  • जावा सागर – Java Sea
  • तिमोर सागर – Timor Sea
  • फ्लोरेस सागर – Flores Sea
  • ओखोट्स्की का सागर Sea of Okhotsk
  • पूर्वी साइबेरियाई सागर – East Siberian Sea
  • लपतेव सागर – Laptev Sea

इन्हें भी जाने:

दुनिया में कुल कितने देश मौजूद हैं और उनके क्या-क्या नाम हैं?

दुनिया में कुल कितने महाद्वीप हैं और उनके क्या-क्या नाम हैं?

दुनिया में कुल कितने धर्म हैं? विस्तार से जाने।

सागरों से जुड़ी कुछ महत्पूर्ण जानकारियाँ –

भू-मध्य सागर – दुनिया का सबसे बड़ा सागर (समुन्द्र) यानिकि भू-मध्य सागर अफ्रीका, यूरोप और मध्य एशिया की सीमाओं को छूता है। इस सागर का कुल क्षेत्रफल 2.510 मिलियन किमी०2 तो वहीं गहराई लगभग 4,632 मी० है। भू-मध्य सागर (Mediterranean) से सटे कुछ देशों की बात करें तो इसमें मिश्र, मोरोक्को, ट्यूनीशिया, तुर्की, सीरिया और इजराइल आदि देश हैं। 

वैसे तो भू-मध्य सागर क्षेत्रफल के अनुसार सबसे बड़ा सागर है, लेकिन आकंड़ों के अनुसार दुनिया का सबसे छोटा महासागर (आर्कटिक महासागर) भी इससे आकार में कई गुना बड़ा है।

कैरिबियन सागर – दुनिया का सबसे गहरा सागर (समुन्द्र) यानिकि कैरिबियन सागर अटलांटिक महासागर के मध्य-पश्चिम भाग से जुड़ा हुआ है। केरेबियन सागर (Caribbean Sea) की कुल गहराई लगभग 7,686 मी० है।

दक्षिणी चीन सागर – चीन देश के दक्षिण में स्थित यह सागर प्रशांत महासागर का ही भाग है। जिसकी अधिकतम गहराई 5,016 मी० है। बता दें कि यह सागर चीन की आक्रामक घेराव की नीतियों के कारण हमेशा अन्य देशो के साथ विवाद-स्पद चर्चा में बना रहता है।

बेरिंग सागर – यह सागर पूर्वी एशिया और उत्तर अमेरिका के अलास्का के बीच स्थित है जोकि प्रशांत महासागर का हिस्सा है। इस सागर की अधिकतम गहराई 4,773 मी० है।

काला सागर – यूरोप में स्थित इस सागर की अधिकतम गहराई 2,212 मी० है। यह सागर कुल 6 देशों की सीमाओं को स्पर्स करता हैं जिसमे रूस, उक्रेन, तुर्की, रोमानिया, बुल्गारिया और जोर्जिया शामिल हैं।

मृत सागर – यह सागर मध्य पूर्व एशिया में जॉर्डन, इजराइल और फिलिस्तीन के बीच स्थित है। इस सागर की अधिकतम गहराई लगभग 300 मी० है। हालाँकि यह एक झील है जिसका पानी सामान्य समुन्द्र के पानी से 9.6 गुना अधिक खारा है। इसी कारण इसके पानी न कोई जीव जीवित रहता है और न ही किसी प्रकार की वनस्पति उपज पाती है। इसके अलावा मृत सागर के पानी में कोई व्यक्ति सामान्य सागरों के मुकाबले आसानी से नहीं डूबता है। 

केस्पियन सागर – यह सागर एक सागर या समुन्द्र न होकर एक झील है। यह मध्य एशिया में स्थित क्षेत्रफल के अनुसार सबसे बड़ी झील है जोकि पाँच देशों की सीमाओं से लगी हुई है। जिसमे रूस, कजाकिस्तान, ईरान, अजरबैजान और तुर्कमेनिस्तान देश शामिल हैं।

तस्मान सागर – यह सागर या समुन्द्र दो देशों ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच स्थित है।  

लाल सागर – यदि लाल सागर की बात करें तो यह अरब प्रायदीप और अफ्रीका महाद्वीप के बीच स्थित है। इस सागर का लाल होने का कारण इसके जल में अधिक मात्रा में ट्राई कोटेशियम नामक शैवाल मतलब काई (एक प्रकार की वनस्पति) पाई जाती है जोकि लाल सागर में तैरती है और इसके जल को लाल रंग प्रदान करती रहती है।

FAQ: बार-बार पूछे जाने वाले प्रश्न

Q.1: विश्व का सबसे बड़ा महासागर कौन सा है?

विश्व का सबसे बड़ा एवं गहरा प्रशांत महासागर है।  

Q.2: विश्व का सबसे छोटा महासागर कौन सा है?

विश्व का सबसे छोटा एवं कम गहरा आर्कटिक महासागर या उत्तरध्रुवीय महासागर है।

Q. 3: विश्व में कुल कितने महासागर हैं?

विश्व में कुल पाँच महासागर हैं।  

Q. 4: विश्व का सबसे बड़ा सागर कौन सा है?

विश्व का सबसे बड़ा सागर भू-मध्य सागर है।

Q. 5: विश्व का सबसे गहरा सागर कौन सा है?

विश्व का सबसे गहरा सागर कैरिबियन सागर है।

निष्कर्ष – The conclusion

हमें उम्मीद है कि आपको यह लेख जिसमे हमने दुनिया के सभी महासागरों के नाम | दुनिया में कुल कितने सागर हैं ? को बताया है; जरूर पसंद आया होगा। हमारी हमेशा ही कोशिश रहती है कि रीडर्स को किसी भी विषय में दी गई जानकारी बहुत अधिक वैल्यू प्रदान करे। जिससे कि रीडर्स को किसी अन्य साईट पर जाकर हमारे द्वारा दी गई जानकारी (विषय) खोजने या पढने की आवश्यता नहीं पड़ती है।   

इस आर्टिकल में हमने दुनिया के सभी महासागरों के नाम | दुनिया में कुल कितने सागर हैं ? के अलावा सागर (समुन्द्र) और महासागर में क्या अंतर है? (What is the difference between sea and ocean), महासागर किसे कहते हैं? (What is an ocean), सभी महासागरों के नाम (Names of all the oceans in hindi), सागर किसे कहते हैं? (What is the sea called)और सागरों, खाड़ी एवं झीलों के बारे में भी बताने का प्रयास किया है।

इसे लेख से सम्बंधित आपके मन में कोई भी सवाल या सुझाव हो तो हमें नीचे कमेंट-बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएँ।

इसके अलावा आपको यह लेख पसंद आया हो या फिर आपने कुछ नया सीखा हो तो प्लीज इस पोस्ट को सभी सोशल मीडिया नेटवर्क्स जैसे कि फेसबुक, ट्विटर, टेलीग्राम इत्यादि पर जरूर साझा करें।   

Leave a Reply